All Categories

मापन, SI पद्धति में मूल मात्रक,SI के सात मूल मात्रक,भौतिक राशियां,Unit of Measurement

                                 मापन, SI पद्धति में मूल मात्रक,SI के सात मूल मात्रक,भौतिक राशियां,Unit of Measurement

यांत्रिकी राशि ( Quantity ) : जिसे संख्या के रूप में प्रकट किया जा सके , उसे राशि कहते हैं ; जैसे – जनसंख्या , आयु ,वस्तु का भार मेज की लम्बाई आदि ।

भौतिक राशियां ( Physical Quantities ) : भौतिकी के नियमों को जिन्हें राशियों के पदों में व्यक्त किया जाता है , उन्हें भौतिक राशियां कहते हैं , जैसे – वस्तु का द्रव्यमान , लम्बाई , बल , चाल , दूरी , विद्युत् धारा , घनत्व आदि

                 भौतिक राशियां दो प्रकार की होती हैं – अदिश तथा सदिश ।

 अदिश ( Scalars ): वैसी भौतिक राशियाँ , जिनमें केवल परिमाण ( magnitude ) होता है , दिशा ( direction ) नहीं होती , उन्हें  अदिश कहा जाता है । जैसे — द्रव्यमान , घनत्व , तापमान , विद्युत् धारा , समय , चाल , आयतन , कार्य आदि ।

सदिश ( Vectors ) : वैसी भौतिक राशियां , जिनमें परिमाण के साथ – साथ दिशाएं भी होती हैं और जो योग के निश्चित नियमों के अनुसार जोड़ी जाती हैं , उन्हें सदिश कहा जाता है ; जैसे — वेग , विस्थापन , रेखीय संवेग , कोणीय विस्थापन , कोणीय वेग , त्वरण , बल आघूर्ण , चुम्बकीय क्षेत्र प्रेरण , चुम्बकीय क्षेत्र तीव्रता , चुम्बकन तीव्रता , चुम्बकीय आघूर्ण , विद्युत् तीव्रता , विद्युत् धारा घनत्व , विद्युत् ध्रुव आघूर्ण , विद्युत् ध्रुवण , चाल प्रवणता , ताप प्रवणता आदि ।

माप के मात्रक इकाई ( Units of Measurement ) : किसी राशि के मापन के निर्देश मानक को मात्रक ( unit ) कहते हैं अर्थात् किसी भी राशि की माप करने के लिए उसी राशि के एक निश्चित परिमाण को मानक ( standard ) मान लिया जाता है और उसे कोई नाम दे दिया जाता है । इसी को उस राशि का मात्रक कहते हैं । किसी दी हुई राशि की उसके मात्रक से तुलना करने की क्रिया को मापन कहते हैं मात्रक दो प्रकार के होते हैं1 . मूल मात्रक तथायुत्पन्न मात्रक ।

मूल मात्रक / इकाई ( Fundamental Units ) : किसी भौतिक राशि को व्यक्त करने के लिए कुछ ऐसे मानकों का प्रयोग किया जाता भी है , जो अन्य मानकों से स्वतंत्र होते हैं , इन्हें मूल मानक कहते हैं ।  जैसे – लम्बाई , समय और द्रव्यमान के मात्रक क्रमशः मीटर , सैकेण्ड एवं किलोग्राम मूल इकाई है ।

व्युत्पन्न मात्रक / इकाई ( Derived Units ): किसी भौतिक राशि को जब दो या दो से अधिक मूल इकाइयों में व्यक्त किया जाता है , तो उसे व्युत्पन्न इकाई कहते हैं । जैसे — बल , दाब , कार्य एवं विभव के लिए क्रमशः न्यूटन , पास्कल , जूल एवं वोल्ट व्युत्पन्न मात्रक हैं

मात्रक पद्धतियां ( System of Units ) : भौतिक राशियों के मापन के लिए निम्नलिखित चार पद्धतियां प्रचलित हैं

CGS पद्धति ( Centimetre Gram Second System ): इस पद्धति में लम्बाई , द्रव्यमान तथा समय के मात्रक क्रमशः सेंटीमीटर , ग्राम और सेकण्ड होते हैं । इसलिए इसे Centimetre Gram Second या CGS पद्धति कहते हैं । इसे फ्रेंच या मीट्रिक पद्धति भी कहते हैं ।

FPS पद्धति ( Foot Pound Second System ) : इस पद्धति में लम्बाई , द्रव्यमान तथा समय के मात्रक क्रमशः फुट , पाउण्ड और सेकण्ड होते हैं । इसे ब्रिटिश पद्धति भी कहते हैं ।

MKS पद्धति ( Metre Kilogram Second System ): इस पद्धति में लम्बाई , द्रव्यमान और समय के मात्रक क्रमशः मीटर , किलोग्राम और सेकण्ड होते हैं ।

अन्तरष्ट्रिीय मात्रक पद्धति ( System International S.I. Units ) : सन् 1960 ई . में अन्तर्राष्ट्रीय माप – तौल के अधिवेशन में SI को स्वीकार किया गया जिसका पूरा नाम desysteme Internationale d’Units है । वास्तव में , यह प्रद्धति MKS प्रद्धति का ही संशोधित एवं परिवर्द्धित ( improved and extended ) रूप है । आजकल इसी पद्धति का प्रयोग किया जाता है । इस पद्धति में सात मूल मात्रक तथा दो सम्पूरक मात्रक ( Supplementary Units ) हैं ।   

              SI के सात मूल मात्रक ( Seven Fundamental Units ) निम्नलिखित हैं

लम्बाई ( Length ) का मूल मात्रक मीटर ‘ ( Metre ) : SI में लम्बाई का मूल मात्रक मीटर ( Metre ) है । 1 मीटर वह दूरी है , जिसे प्रकाश निर्वात् में 1/299792458 सेकण्ड में तय करता है ।

द्रव्यमान ( Mass ) का मूल मात्रक ‘ किलोग्राम ( Kilogram ) : फ्रांस के सेवरिस नामक स्थान पर माप – तौल के अन्तर्राष्ट्रीय माप तौल व्यूरो ( International Bureau of Weight and Measurement IBWM ) में सुरक्षित रखे प्लेटिनम – इरीडियम मिश्रधातु के बने हुए बेलन के द्रव्यमान को मानक किलोग्राम कहते हैं । इसे संकेत में किग्रा . ( kg ) लिखते हैं ।

समय ( Time ) का मूल मात्रक ‘ सेकण्ड ‘ ( Second ) : सीजियम -133 परमाणु की मूल अवस्था के दो निश्चित ऊर्जा स्तरों ( hyper fine levels ) के बीच संक्रमण ( transition ) से उत्पन्न विकिरण के 9192631770 आवर्तकालों की अवधि को 1 सेकण्ड कहते हैं । आइंस्टीन ने अपने प्रसिद्ध ‘ सापेक्षता का सिद्धांत ‘ ( Theory of Relativity ) में समय को चतुर्थ विमा ( fourth dimension ) के रूप में प्रयुक्त किया है ।

विद्युत् – धारा ( Electric Current ) का मूल मात्रक ऐम्पियर ‘ ( Ampere ) : यदि दो लम्बे और पतले तारों को निर्वात् में 1 मीटर की दूरी पर एक – दूसरे के समानान्तर रखा जाए और उनमें ऐसे परिमाणकी समान विद्युत् धारा प्रवाहित की जाए जिससे तारों के बीच प्रति मीटर लम्बाई में 2 x 10-7 न्यूटन का बल लगने लगे तो विद्युत् धारा के उस परिमाण को 1 ऐम्पियर कहा जाता है । इसका प्रतीक A है

ताप ( Temperature ) का मूल मात्रक केल्विन ‘ ( Kelvin ): जल के त्रिक बिन्दु ( triple point ) के ऊष्मागतिक ताप के 1 / 273.16 वें भाग को केल्विन कहते हैं । इसका प्रतीक K होता है ।

ज्योति – तीव्रता ( Luminous Intensity ) का मूल मात्रक ‘ कैण्डेला ‘ ( Candela ) : किसी निश्चित दिशा में किसी प्रकाश स्रोत की ज्योति – तीव्रता 1 कैण्डेला तब कही जाती है , जब यह स्रोत उस दिशा में 540 x 10^12 हर्ट्ज का तथा 1/683 वाट | स्टेरेडियन तीव्रता का एकवर्णीय ( monochromatic ) प्रकाश उत्सर्जित करता है । यदि घन कोण के अन्दर प्रति सेकण्ड 1 जूल प्रकाश ऊर्जा उत्सर्जित हो , तो उसे 1 वाट / स्टेरेडियन कहते हैं ।

पदार्थ की मात्रा ( Amount of Substance ) का मूल मात्रक ‘ मोल ‘ ( Mole ) : एक मोल , पदार्थ की वह मात्रा है , जिसमें उसके अवयवी तत्वों ( परमाणु , अणु , आदि ) की संख्या 6.023 x 10^23होती है । इस संख्या को ऐवोगाड्रो नियतांक ( Avogadro’s Constant ) कहते हैं । नोट : मोल पदार्थ के परिमाण का मात्रक है , यह द्रव्यमान का मात्रक नह

 SI पद्धति में मूल मात्रक

राशि                         मात्रक              संकेत

लम्बाई                     (दूरी) मीटर         m
द्रव्यमान                   किग्रा.                kg
समय                       सेकेण्ड               s
ताप                         कैल्विन               k
विद्युत धारा               ऐम्पियर               a
ज्योति तीव्रता            कैण्डला             Cd
पदार्थ की मात्रा          मोल                 mol

सम्पूरक मात्रक :-

तलीय कोण            रेडियन                 Rd
घन कोण               स्टेरेडियन               Sr

 

मापन संबंधी प्रश्न और उत्तर

प्रश्न 1. लुमेन किसका मात्रक है

उत्तर :-ज्योति फ्लक्स का

प्रश्न 2. भौतिक मात्रा ज्योति की इकाई क्या है

उत्तर:- लक्स

प्रश्न 3. कैंडेला मात्रक है

उत्तर :-ज्योति तीव्रता का

प्रश्न 4. ऊर्जा की एस आई मात्रक है

उत्तर:- जूल

प्रश्न 5. चुंबकीय क्षेत्र की माप की इकाई है

उत्तर :-टेस्ला

प्रश्न 6. HZ क्या मापने की यूनिट है

उत्तर:- तरंग की आवृत्ति

प्रश्न 7. ध्वनि की तीव्रता मापने की इकाई हैं

उत्तर:- डेसीबल

प्रश्न 8. एंपियर क्या मापने की इकाई है

उत्तर:- करंट

प्रश्न 9. कार्य का मात्रक है

उत्तर:- जूल

प्रश्न 10. एक खगोलीय इकाई संबंधित है
उत्तर:- सूर्य एवं पृथ्वी के बीच की दूरी

प्रश्न 11. पारसेक इकाई है
उत्तर:- दूरी की

प्रश्न 12. S.I पद्धति में लेंस की शक्ति की इकाई क्या है
उत्तर:-डायऑप्टर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *